Hindi

BySlide Scope

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है ?

एफिलिएट मार्केटिंग को समझने से पहले हमें ये समझना जरुरी है की एफिलिएट शब्द का क्या अर्थ है | एफिलिएट का शाब्दिक अर्थ है सहबद्ध या एक प्रकार की साझेदारी जिसमे एक व्यक्ति या कंपनी दुसरे व्यक्ति या कंपनी के प्रोडक्ट्स और सेवाओं को प्रमोट करता है औए सेल्स को बढाता है | सेल्स होने पर बिक्री के दाम में से कुछ प्रतिशत हिस्सा एफिलिएट को मिलता है |

एफिलिएट मार्केटिंग इसी प्रकार से अपने प्रोडक्ट्स या सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रयोग किया जाने वाला तरीका है |

एफिलिएट मार्केटिंग में निर्माता कंपनी अपने उत्पादों को ऑनलाइन बिक्री के लिए किसी वेबसाइट पे डिस्प्ले करती है | विजिटर सीधा इन वेबसाइट से भी सामान को खरीद सकता है | कई ब्लॉगर और वेबसाइट के मालिक ये जानते है की उनकी वेबसाइट पे उन्हें अच्छा ट्रैफिक मिलता है | अच्छे ट्रैफिक के कारण कुछ प्रतिशत विजिटर वेबसाइट मालिकों द्वारा लगाये गए विज्ञापनों पे भी प्रतिक्रिया करते है | ये विज्ञापन किसी ऐसे उत्पाद के भी हो सकते है जिनको वेबसाइट मालिक एफिलिएट के तौर पे प्रमोट कर रहे हो | यदि विजिटर उन विज्ञापनों पे प्रतिक्रिया करने के बाद उत्पाद की निर्माता कंपनी की वेबसाइट पे पहुच जता है और उस उत्पाद को खरीद लेता है तो निर्माता कंपनी का तो सीधा लाभ होता ही है साथ में जिस वेबसाइट पे विज्ञापन को क्लिक करके वो खरीदार आया है उस वेबसाइट के मालिक को भी कुछ प्रतिशत कमीशन मिल जाता है |

इस प्रकार की मार्केटिंग में दोनों का ही फायेदा है | अधिकतर उत्पाद के निर्माता अपने सामान की बिक्री के लिए किसी बड़े शौपिंग पोर्टल पे सेलर के तौर पे पंजीकृत होते हैं | इस तरह के बड़े शौपिंग पोर्टल के उदाहरण है – AMAZON, FLIPKART, EBAY इत्यादि | ये सभी पोर्टल भी बिक्री को बढ़ाने के डिजिटल मार्केटिंग का सहारा लेती हैं जैसे की डायरेक्ट ऐड, सर्च इंजन ऐड, एफिलिएट मार्केटिंग इत्यादि |

इस तरह के बड़े पोर्टल सेलर को तो पंजीकृत करते ही है साथ में एफिलिएट को भी पंजीकृत करते है | एफिलिएट को पंजीकरण के समय अपनी पर्सनल डिटेल, बिलिंग डिटेल और अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की जानकारी भी देनी होती है | ये वेबसाइट या ब्लॉग वो माध्यम है जिसपे एफिलिएट शौपिंग पोर्टल के प्रोडक्ट्स को प्रोमोट करता है |

एफिलिएट मार्केटिंग में उत्पादों के URL (वेब एड्रेस) के अंत में एफिलिएट ID जोड़ दी जाती है | एफिलिएट इन एफिलिएटेड वेब एड्रेस को अपनी वेबसाइट, फ़ोरम् में, सोशल मीडिया पे या व्हात्सप्प पे भी प्रमोट कर सकता है | इस तरह से उस प्रोडक्ट को लोकप्रियता मिलती है जो की डिजिटल मार्केटिंग का एक प्रमुख उद्देश्य है | किसी भी उत्पाद को हज़ारों एफिलिएट प्रोमोट करते है क्युकी उनको उस उत्पाद की बिक्री पे कमीशन मिलता है |

BySlide Scope

वर्डप्रेस वेबसाइट को लोकल कंप्यूटर पर कैसे होस्ट करें ?

वर्डप्रेस वेबसाइट को लोकल कंप्यूटर पर होस्ट करने के लिए आपको निम्नलिखित सॉफ्टवेर टूल्स की आवश्यकता होगी :
१. विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम या लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम वाला लैपटॉप या डेस्कटॉप कंप्यूटर

२. xampp या ampps  सॉफ्टवेर जो की आपके कंप्यूटर में ज़रूरी अपाचे सर्वर (Apache Server) और माईएसक्यूएल mysql सर्वर इनस्टॉल  कर देगा

३. इसके बाद आपको wordpress.org वेबसाइट पे जाकर wordpress की फाइल डाउनलोड करनी है

४. जब आप xampp या ampps इनस्टॉल करते है तो वो आपकी C: ड्राइव में एक फोल्डर बना देता है जिसमे htdocs नाम का फोल्डर होता है

५. wordpress से डाउनलोड की गयी ज़िप फाइल को htdocs में किसी फोल्डर में पेस्ट करें और एक्सट्रेक्ट करें

६. जिस नाम से अपने फोल्डर बनाया है वो आपकी वेबसाइट की तरह काम करेगी

७. आप xampp या ampps कण्ट्रोल पैनल से अपाचे सर्वर और mysql सर्वर को ओपन कर लें

८. गूगल क्रोम, मोजिल्ला फायरफाक्स जैसे किसी भी ब्राउसर में localhost/yourwebsitename टाइप करे

९. ब्राउज़र में localhost/phpmyadmin लिखें और एक नया डेटाबेस बना ले और उसका नाम उसके आईडी पासवर्ड के साथ लिख ले

१०. localhost/yourwebsitename में इनस्टॉल पे क्लिक करें और अपनी भाषा का चुनाव करें

११. डेटाबेस का नाम दर्ज करें और डाटाबेस का यूजर नाम  और पासवर्ड दर्ज करें

१२. अपनी वेबसाइट के administrator यूजरनेम और पासवर्ड को चुने और ईमेल दर्ज करें

१३. अब आपकी वेबसाइट के डैशबोर्ड में आप localhost/yourwebsitename/wp-admin लिख के पहुच सकते है

Read this post in English

BySlide Scope

जानिये भीम ऐप के बारे में | What is BHIM APP

भीम ऐप  हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा घोषित की हुई एंड्राइड ऐप है जिसका उपयोग डिजिटल लेन-देन में किया जा सकता है
भीम का अर्थ है भारत इंटरफ़ेस फॉर मनी । इस ऐप का नाम बाबासाहेब भीम राव आंबेडकर जी के नाम पर रखा गया है ।
यह ऐप आधार कार्ड के प्रयोग से भुगतान की प्रक्रिया के लिए है
इस ऐप का इस्तेमाल करके उपभोक्ता अपनी ऊँगली की छाप के आधार पर कर सकेंगे
यह ऐप डिजिटल भुगतान में सहायक है जो की NPCI द्वारा बनाई  गयी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफ़ेस (unified payment interface) नामक प्रौद्योगिकी पर आधारित है |
यदि आपके पास UPI पर आधारित बैंक खाता है जो आपके मोबाइल नंबर से भी जुड़ा हुआ है तो आप इस ऐप  इस्तेमाल ऑनलाइन भुगतान हेतु कर सकते है  |

भारत बहुत तेज़ी से डिजिटल इंडिया मूवमेंट में अग्रसर है | टैक्स चोरी जैसे अपराधो की रोकथाम में इस प्रकार की ऐप अत्यंत लाभदायक है

भीम ऐप Download BHIM App

This app is available on Google Play.

How to Use BHIM App

BHIM App is developed to suppport ”Go Cashless India” movement. Aadhar Card holders can use this APP to make digital transactions.

This app is available for Android Users only. If official iOS and Windows versions will be launched, we will update the download links here.

BySlide Scope

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

ये लेख हिंदी में लिखने का मेरा मुख्य उद्देश्य मेरे ब्लॉग के उपभोक्ताओं को डिजिटल मार्केटिंग की व्यक्ख्या हिंदी में करना है | इस लेख को पढने के बाद आप जानेंगे कि :

  • डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?
  • सभी लोग अचानक ऑनलाइन क्यों जा रहे हैं ?
  • डिजिटल मार्केटिंग से क्या लाभ होता है ?
  • डिजिटल मार्केटिंग आखिर किन अन्य विषयों से मिल कर बनी है ?
  • डिजिटल मार्केटिंग किस प्रकार से विकसित हुई ?
  • सर्च इंजन ऑप्टीमाईज़ेशन क्या होता है ?
  • पे पर क्लिक मार्केटिंग का क्या अर्थ है ?
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग क्या होती है ?
  • डिजिटल मार्केटिंग का मूल्याङ्कन कैसे किया जाता है ?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

डिजिटल का अभिप्राय इन्टरनेट से है, मार्केटिंग का अर्थ है विपणन | अपने व्यवसाय एवं सेवओं को इन्टरनेट (ऑनलाइन) के माध्यम से अपने ग्राहकों के समक्ष प्रस्तुत करने की प्रक्रिया को डिजिटल मार्केटिंग कहते हैं | इस प्रक्रिया को कई खंडो में विभाजित किया जा सकता है :

१. अपने व्यवसाय एवं सेवाओं के सारांश को एक विज्ञापन में संजोना |

२. अपने विज्ञापन को अपनी वेबसाइट या किसी अन्य ऑनलाइन समुदाय, वर्गीकृत, इत्यादि वेबसाइट में प्रकाशित करना |

३. प्रकाशित विज्ञापन या लेख का लक्षित दर्शको / उपभोक्ताओ तक पहुचना

इन्टरनेट संभावित उपभोक्ताओं का भंडार है | इन्टरनेट मार्केटिंग के माध्यम से आपका विज्ञापन जितने अधिक से अधिक लोगों तक पहुचता है आपकी सफलता की प्रायिकता उतनी ही बढ़ती जाती है |

सभी लोग अचानक ऑनलाइन क्यों जा रहे हैं ?

  • नए उत्पादों, सेवाओं एवं स्थानों की जानकारी हेतु
  • अपने प्रश्नों के उत्तर हेतु
  • किसी प्रकार की सहायता हेतु
  • किसी व्यक्ति विशेष की जानकारी हेतु
  • व्यवसाय के नए अवसरों की तलाश में
  • ऑनलाइन व्यापर करने हेतु
  • अपनी संस्था के लिए कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए
  • ऑनलाइन बिल का भुगतान करने के लिए

इसके इलावा अन्य कई कारण है जिनकी वजह से लोग अपने अधिकतर कार्य ऑनलाइन ही कर लेते है | ऐसा करने से उनके समय एवं पैसे , दोनों की बचत होती है | छोटे व्यवसायों के लिए लोगो तक पहुचना आसन हो जाता है | जिस प्रकार लोग अन्य वेबसाइट तक पहुचते है उसी प्रकार आपकी वेबसाइट तक भी पहुच सकते है |

डिजिटल मार्केटिंग से क्या लाभ होता है ?

पारंपरिक मार्केटिंग की तुलना में डिजिटल मार्केटिंग निम्नलिखत कारणों से उपयोगी है :

  • किफायती होता है
  • इसका विश्लेषण किया जा सकता है
  • नियंत्रण उपभोक्ताओं के हाथ में रहता है
  • अधिक सुविधाजनक है
  • अधिक संतुष्टि प्रदान करता है
  • ब्रांड की निष्ठा को बढ़ाता है
  • बिक्री की प्रक्रिया को तेज़ करता है
  • बिक्री के समस्त खर्चो को कम करता है
  • ब्रांड के शशक्तिकरण में सहायक होता है
  • लक्षित परिणाम मिलते है

डिजिटल मार्केटिंग किन मूल तत्वों से मिले के बना है ?

निम्नलिखित विषयों को डिजिटल मार्केटिंग की आधारशिला माना गया है :

  • वेबसाइट के पृष्टों के साथ उपभोक्ताओं का अनुभव
  • एस . ई. ओ ( search engine optimizaton )
  • पे पर क्लिक विज्ञापन
  • व्यवसाय के लिए सोशल मीडिया का प्रबंधन
  • लेखों के द्वारा उपभोक्ताओं तक अपने व्यवसाय एवं अपनी सेवाओं की जानकारी पहुचना
  • इन्टरनेट पे बैनर द्वारा विज्ञापन करना
  • अपने ब्रांड की छवि का इन्टरनेट पे प्रचार, प्रसार एवं प्रबंधन

For English Version of Digital Marketing (The Topics) – http://slidescope.com/digital-marketing-syllabus/
ऑनलाइन मार्केटिंग क्या है ?