डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

BySlide Scope

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

ये लेख हिंदी में लिखने का मेरा मुख्य उद्देश्य मेरे ब्लॉग के उपभोक्ताओं को डिजिटल मार्केटिंग की व्यक्ख्या हिंदी में करना है | इस लेख को पढने के बाद आप जानेंगे कि :

  • डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?
  • सभी लोग अचानक ऑनलाइन क्यों जा रहे हैं ?
  • डिजिटल मार्केटिंग से क्या लाभ होता है ?
  • डिजिटल मार्केटिंग आखिर किन अन्य विषयों से मिल कर बनी है ?
  • डिजिटल मार्केटिंग किस प्रकार से विकसित हुई ?
  • सर्च इंजन ऑप्टीमाईज़ेशन क्या होता है ?
  • पे पर क्लिक मार्केटिंग का क्या अर्थ है ?
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग क्या होती है ?
  • डिजिटल मार्केटिंग का मूल्याङ्कन कैसे किया जाता है ?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

डिजिटल मार्केटिंग दो मुख्य शब्दों से मिल के बना है –

डिजिटल और मार्केटिंग | सबसे पहले हम इन शब्दों के अर्थ को समझते हैं –

 

डिजिटल क्या है ?

यहाँ पर डिजिटल का अभिप्राय इलेक्ट्रॉनिक और कंप्यूटर से है और मुख्य रूप से इन्टरनेट से है जो एक इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क है जिस नेटवर्क का हिस्सा दुनिया का हर वो व्यक्ति है जो किसी भी डिजिटल उपकरण के द्वारा इन्टरनेट का प्रयोग करता है |

 

मार्केटिंग क्या है ?

मार्केटिंग का शाब्दिक अर्थ है विपणन | किसी भी बिज़नस या सर्विक को सबसे पहले उसके उत्पादक ही जानते है उसके बाद वो लोग जानते हैं जो लोग उस उत्पाद से जुड़े हुए हैं और जान्ने वाले लोगों का दायरा काफी सीमित होता है | उपभोक्ताओं को जब तक उस उत्पाद या सर्विस के बारे में सूचना न मिले तब तक उन्हें पता भी नहीं चलेगा की ऐसी कोई सर्विस या उत्पाद बाज़ार में उपलब्ध है |

नए या पहले से मौजूद उत्पादों या सर्विस की सूचना मौखिक और लिखित प्रारूप में लक्षित उपभोक्ताओं तक पहुचने की प्रक्रिया को मार्केटिंग कहते हैं |

डिजिटल का अभिप्राय इन्टरनेट से है, मार्केटिंग का अर्थ है विपणन | अपने व्यवसाय एवं सेवओं को इन्टरनेट (ऑनलाइन) के माध्यम से अपने ग्राहकों के समक्ष प्रस्तुत करने की प्रक्रिया को डिजिटल मार्केटिंग कहते हैं | इस प्रक्रिया को कई खंडो में विभाजित किया जा सकता है :

१. अपने व्यवसाय एवं सेवाओं के सारांश को एक विज्ञापन में संजोना |

२. अपने विज्ञापन को अपनी वेबसाइट या किसी अन्य ऑनलाइन समुदाय, वर्गीकृत, इत्यादि वेबसाइट में प्रकाशित करना |

३. प्रकाशित विज्ञापन या लेख का लक्षित दर्शको / उपभोक्ताओ तक पहुचना

इन्टरनेट संभावित उपभोक्ताओं का भंडार है | इन्टरनेट मार्केटिंग के माध्यम से आपका विज्ञापन जितने अधिक से अधिक लोगों तक पहुचता है आपकी सफलता की प्रायिकता उतनी ही बढ़ती जाती है |

सभी लोग अचानक ऑनलाइन क्यों जा रहे हैं ?

  • नए उत्पादों, सेवाओं एवं स्थानों की जानकारी हेतु
  • अपने प्रश्नों के उत्तर हेतु
  • किसी प्रकार की सहायता हेतु
  • किसी व्यक्ति विशेष की जानकारी हेतु
  • व्यवसाय के नए अवसरों की तलाश में
  • ऑनलाइन व्यापर करने हेतु
  • अपनी संस्था के लिए कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए
  • ऑनलाइन बिल का भुगतान करने के लिए

इसके इलावा अन्य कई कारण है जिनकी वजह से लोग अपने अधिकतर कार्य ऑनलाइन ही कर लेते है | ऐसा करने से उनके समय एवं पैसे , दोनों की बचत होती है | छोटे व्यवसायों के लिए लोगो तक पहुचना आसन हो जाता है | जिस प्रकार लोग अन्य वेबसाइट तक पहुचते है उसी प्रकार आपकी वेबसाइट तक भी पहुच सकते है |

डिजिटल मार्केटिंग से क्या लाभ होता है ?

पारंपरिक मार्केटिंग की तुलना में डिजिटल मार्केटिंग निम्नलिखत कारणों से उपयोगी है :

  • किफायती होता है
  • इसका विश्लेषण किया जा सकता है
  • नियंत्रण उपभोक्ताओं के हाथ में रहता है
  • अधिक सुविधाजनक है
  • अधिक संतुष्टि प्रदान करता है
  • ब्रांड की निष्ठा को बढ़ाता है
  • बिक्री की प्रक्रिया को तेज़ करता है
  • बिक्री के समस्त खर्चो को कम करता है
  • ब्रांड के शशक्तिकरण में सहायक होता है
  • लक्षित परिणाम मिलते है

डिजिटल मार्केटिंग किन मूल तत्वों से मिले के बना है ?

निम्नलिखित विषयों को डिजिटल मार्केटिंग की आधारशिला माना गया है :

  • वेबसाइट के पृष्टों के साथ उपभोक्ताओं का अनुभव
  • एस . ई. ओ ( search engine optimizaton )
  • पे पर क्लिक विज्ञापन
  • व्यवसाय के लिए सोशल मीडिया का प्रबंधन
  • लेखों के द्वारा उपभोक्ताओं तक अपने व्यवसाय एवं अपनी सेवाओं की जानकारी पहुचना
  • इन्टरनेट पे बैनर द्वारा विज्ञापन करना
  • अपने ब्रांड की छवि का इन्टरनेट पे प्रचार, प्रसार एवं प्रबंधन

डिजिटल मार्केटिंग किस प्रकार से विकसित हुई ?

डिजिटल मार्केटिंग की आवश्यकता १९९९ – २००० में हुई जब कई लोगो की वेबसाइट ऑनलाइन हो चुकी थी | लोगों द्वारा बनायी गयी वेबसाइटस को उनके निर्माता या उनके संपर्क में रहने वाले लोग ही जानते थे | किसी भी वेबसाइट के मालिक के लिए उसकी वेबसाइट तब तक किसी काम की नहीं जबतक लक्षित ग्राहकों तक वो वेबसाइट नहीं पहुच जाती है | अपनी वेबसाइट तो अन्य लोगों तक पहुचने के लिए लोगों ने :

  • ऑनलाइन विज्ञापन का सहारा लिया और
  • अन्य प्रसिद्ध वेबसाइट पर अपनी वेबसाइट को लिंक किया
  • या किसी से चैट करते वक़्त अपनी वेबसाइट को प्रमोट किया
  • ईमेल के माध्यम से लोगों ने अपनी वेबसाइट का लिंक और लोगों को भेजना शुरू कर दिया

यह डिजिटल मार्केटिंग की शुरुआत थी |

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या होता है ?

कृपया ऊपर दिए लिंक को क्लिक करें जिसमे हमने विस्तार में समझाया है की SEO क्या होता है |

For English Version of Digital Marketing (The Topics) – https://slidescope.com/digital-marketing-syllabus/
ऑनलाइन मार्केटिंग क्या है ?

About the author

Slide Scope administrator

Slide Scope Posts are written by experts from Core Information Technology and Digital Marketing Industry. We have assistants from Management Science as well.

5 Comments so far

अमृत शर्माPosted on5:13 pm - Jul 11, 2016

डिजिटल मार्केटिंग के बारे में आपका लेख काफी अच्छा है | अपने डिजिटल मार्केटिंग के बारे में विस्तार में बताया है ..!

AarohiPosted on4:31 pm - Sep 14, 2016

Wa Maza Aaya sir Aapke blog ke hur update ko me read karti hu .such nice post sir jis tarah visitors aur vistors yaha par Aakar bolte hai vaise hi me bolna chahati hu * fabulous website * keep blogging 🙂

Rajat MathurPosted on12:56 pm - Sep 15, 2016

आपका यह लेख काफी प्रशंसनीय एवं सराहनीय है ! लेकिन आपसे एक विनती है की आपके हर एक विषय के बारे में विस्तार से जानकारी दें!
जैसे की:
पे पर क्लिक का क्या मतलब होता है?
सर्च इंजन ऑप्टीमाईज़ेशन क्या होता है ?
सोशल मीडिया मार्केटिंग क्या होती है ?

EntrepreneurPosted on8:20 am - Jun 4, 2017

bahut hi behtreen Blog Aur Hindi Content me aapne Acche se likha hai. Hame Khusi hai ki aap aur Bhi Aise hi Digital Marketing aur Apne Related Topic se Artical Likhte rahe bahut hi acchi jankari thi thankyou SlideScope

Leave a Reply